Type Here to Get Search Results !

जैसा भोजन खाइये तैसा ही मन होय दोहे का अर्थ(Jaisha Bhojan Khayiye taisa Hi Man Hoy Dohe Ka Arth in Hindi)


जैसा भोजन खाइये तैसा ही मन होय दोहे का अर्थ(Jaisha Bhojan Khayiye taisa Hi Man Hoy Dohe Ka Arth in Hindi):-


जैसा भोजन खाइये, तैसा ही मन होय।
जैसा पानी पीजिये, तैसी बानी सोय।

 

जैसा भोजन खाइये तैसा ही मन होय दोहे का अर्थ(Jaisha Bhojan Khayiye taisa Hi Man Hoy Dohe Ka Arth in Hindi)


जैसा भोजन खाइये तैसा ही मन होय दोहे का अर्थ(Jaisha Bhojan Khayiye taisa Hi Man Hoy Dohe Ka Arth in Hindi):-

आहारशुध्दी: जैसे खाय अन्न, वैसे बने मन्न लोक प्रचलित कहावत है और मनुष्य जैसी संगत करके जैसे उपदेश पायेगा, वैसे ही स्वयं बात करेगा। अतएव आहाविहार एवं संगत ठीक रखो।



Ads Area