Type Here to Get Search Results !

वो नसीबों से ज़्यादा दे रहा है भजन लिरिक्स (Wo Naseebo Se Jyada De Raha Ha Lyrics in Hindi) - Krishna Bhajan Raj Pareek - Bhaktilok

 

वो नसीबों से ज़्यादा दे रहा है भजन लिरिक्स (Wo Naseebo Se Jyada De Raha Ha Lyrics in Hindi) - 


बिन पानी के नाव खे रहा है

वो नसीबों से ज़्यादा दे रहा है

वो नसीबो से ज़्यादा दे रहा है।।


भूखे उठते है पर भूखे सोते नहीं

दुःख आते है हम पर तो रोते नहीं

दिन रात खबर ले रहा है

वो नसीबो से ज़्यादा दे रहा है।।


मेरा छोटा सा घर महलों 

का राजा है वो मेरी औक़ात 

क्या महाराजा है वो

फिर भी साथ मेरे रह रहा है

वो नसीबो से ज़्यादा दे रहा है।।


बनवारी दीवाने बड़े से बड़े इनके 

चरणों में कंकर के जैसे पड़े

फिर भी अर्ज़ी मेरी सुन रहा है

वो नसीबो से ज़्यादा दे रहा है।।


बिन पानी के नाव खे रहा है

वो नसीबों से ज़्यादा दे रहा है

वो नसीबो से ज़्यादा दे रहा है।।


वो नसीबों से ज़्यादा दे रहा है भजन लिरिक्स (Wo Naseebo Se Jyada De Raha Ha Lyrics in English) - 


Bin paanee ke naav khel raha hai

vo naseebon se jyaada de raha hai

vo naseebo se jyaada de raha hai..||


latake hue par latake hue nahin hain

duhkh aata hai ham par to rote nahin

de nait khabar le raha hai

vo naseebo se jyaada de raha hai..||


mera chhota sa ghar mahalon

raaja ka hai vo meree aukaat

kya mahaaraaja hai vo

phir bhee mere saath rah raha hai

vo naseebo se jyaada de raha hai..||


banavaaree deevaana bade se bade

charanon mein kankar ke jaise pade

phir bhee arzee meree sun rahee hai

vo naseebo se jyaada de raha hai..||


Bin paanee ke naav khel raha hai

vo naseebon se jyaada de raha hai

vo naseebo se jyaada de raha hai..||


*** Singer - Raj Pareek ***


Also Read Shyam Bhajan:-


Ads Area