Type Here to Get Search Results !

जवानी में जो सोयेगा बुढ़ापा में रोयेगा लिरिक्स - Bhaktilok

 

जवानी में जो सोयेगा बुढ़ापा में रोयेगा लिरिक्स

"जवानी में जो सोयेगा, बुढ़ापा में रोयेगा" ये एक प्रसिद्ध हिंदी कहावत है, जिसका अर्थ है कि जो व्यक्ति अपनी युवावस्था में आराम करता है, उसे बुढ़ापे में पछताना पड़ता है। इस कहावत का उपयोग जीवन में सफलता के लिए कठिन मेहनत का महत्व बताने के लिए किया जाता है।

"जवानी में जो सोयेगा, बुढ़ापा में रोयेगा" यह लाइन हिंदी फिल्मों में अक्सर सुनी जाती है और यह बहुत सारे गीतों और फिल्मों में भी इस्तेमाल होती है। इस लाइन का अर्थ है कि जो व्यक्ति अपनी जवानी का समय सही से नहीं बिताता है, वह बुढ़ापे में पछतायेगा और रोएगा। इस विचार को अलग-अलग तरीके से व्यक्त किया जाता है फिर चाहे वह किसी फिल्म के गाने हो या किसी कहानी का हिस्सा। यह लाइन जीवन में सही समय का महत्व बताती है।

Ads Area