Type Here to Get Search Results !

श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Hanuman Shabar Mantra Aur Arth Hindi Me) - Bhaktilok

श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Hanuman Shabar Mantra Aur Arth Hindi Me) :- 

श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Hanuman Shabar Mantra Aur Arth Hindi Me) - Bhaktilok

 (toc) #title=(Table of Content)


श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Hanuman Shabar Mantra Aur Arth Hindi Me) :-


हनुमानजी का शाबर मंत्र (Hanuman Shabar Mantra) :- 

श्री हनुमान जी का शाबर मंत्र अत्यंत ही सिद्ध मंत्र है। इसके प्रयोग से हनुमानजी तुरंत ही आपके मन की बात सुन लेते हैं।  इस मंत्र प्रयोग तभी करें जबकि यह सुनिश्चित हो कि आप पवित्र व्यक्ति हैं।   

यह मंत्र आपके जीवन के सभी संकटों और कष्टों को तुरंत ही चमत्कारिक रूप से समाप्त करने की क्षमता रखता है। श्री हनुमानजी के कई शाबर मंत्र हैं तथा अलग-अलग कार्यों के लिए हैं। यहां प्रस्तुत हैं दो मंत्र।

आत्म सुरक्षा हेतु श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र(Aatm Suraksha Hetu Hanuman Ji Ka Hanuman Shabar Mantra):-


ॐ नमः वज्र का कोठा ।

जिसमे पिण्ड हमारो पेठा ।

ईश्वर कुंजी ।

ब्रह्मा का ताला ।

मेरे आठो धाम का यति हनुमंत रखवाला ॥


शत्रु दमन हेतु श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र(Shatru Daman Hetu Hanuman Shabar Mantra):-

हनुमान पहलवान बारह बरस का जवान मुख में बीरा हाथ में कमान लोहे की लाठ वज्र का कीला जहां बैठे तहां हनुमान हठीला

बाल रे बाल राखो सीस रे सीस राखो आगे जोगिनि राखो पाछे नरसिंह राखो जो कोइ छल करे कपट करे तिनकी बुद्धि मति बांधो दुहाई

हनुमान वीर की शब्द साचा पिण्ड काचा फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा ॥


सर्व मनोकामना पूर्ति हेतु श्री हनुमानजी का शाबर मंत्र(Sarv Manokamana Purti Hetu Hanuman Shabar Mantra):-


ओज्योति स्वरुप प्रभू रामभक्त, महाशक्ति वीर

हनुमान अंजनिपुत्र सीता भक्त महाविष्णु गुरु

अचेतमात्र अचेतमात्र नमः नमः नमः शक्ती दो कृपा

मेरी करो शक्ती दो शक्ती दो ॥

 

आपके जीवन में हर संकट को दूर करे, सिर्फ बजरंग बली का सिर्फ यह मंत्र रोज पढ़ें :-

बार-बार परेशानी व कार्यों में रुकावट हो तो हर मंगलवार हनुमानजी के मंदिर में जाकर गुड एवं चने का प्रसाद चढ़ाना चाहिए। उस प्रसाद को वहीं मंदिर में भक्तो और लोगो में ही बांट देना चाहिए।

प्रतिदिन हर सुबह इस बजरंग बलि के मंत्र का जाप अवश्य करें : –

आदिदेव नमस्तुभ्यं सप्तसप्ते दिवाकर!

त्वं रवे तारय स्वास्मानस्मात्संसार सागरात!! 

 

उपरोक्त उपाय से परेशानियों एवं बाधाओं से आश्चर्यजनक रूप से आपको मुक्ति मिलने लगेगी।

Ads Area