Type Here to Get Search Results !

हीरा परखै जौहरी शब्दहि परखै साध दोहे का अर्थ(Hira Parakhai jouhari Shabdhi Prakhai Sadh Dohe Ka Arth in Hindi)

 

हीरा परखै जौहरी शब्दहि परखै साध दोहे का अर्थ(Hira Parakhai jouhari Shabdhi Prakhai Sadh Dohe Ka Arth in Hindi):-


हीरा परखै जौहरी शब्दहि परखै साध ।
कबीर परखै साध को ताका मता अगाध ।

 

हीरा परखै जौहरी शब्दहि परखै साध दोहे का अर्थ(Hira Parakhai jouhari Shabdhi Prakhai Sadh Dohe Ka Arth in Hindi)


हीरा परखै जौहरी शब्दहि परखै साध दोहे का अर्थ(Hira Parakhai jouhari Shabdhi Prakhai Sadh Dohe Ka Arth in Hindi):-

हीरे की परख जौहरी जानता है – शब्द के सार– असार को परखने वाला विवेकी साधु – सज्जन होता है । कबीर कहते हैं कि जो साधु–असाधु को परख लेता है उसका मत – अधिक गहन गंभीर है !



Ads Area