शिव जी की महिमा अपरम्पार है लिरिक्स (Shivji Ki Mahima Aparampar Hai Lyrics in Hindi) - Shiv Bhajan Mukesh Kumar Meena Bhajan - Bhaktilok

Deepak Kumar Bind

 

शिव जी की महिमा अपरम्पार है लिरिक्स (Shivji Ki Mahima Aparampar Hai Lyrics in Hindi) - 


शिव जी की महिमा अपरम्पार है 

आया शिवरात्रि का त्यौहार है 

चरणों में नतमस्तक संसार है 

आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।। 


जिनके उर में सर्पो की माला है 

भस्म रमाए बैठा डमरू वाला है 

सिर पर जिनके गंगा की धार है 

दुनिया उनकी करती जय जयकार है 

शिव जी की महिमा अपरम्पार है 

आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।। 


भांग धतूरा बेल पत्र ले आए है 

गंगा जल में अक्षत फूल सजाए है

होंठों पे भरे बस ओमकार है 

शिवजी के मंत्रो का गुंजार है 

शिव जी की महिमा अपरम्पार है 

आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।। 


ईच्छा जन जन की ये पूरी करते है 

झोली हरदम भक्तों की ये भरते है 

दर्शन करने से ही उद्धार है 

गजब अनुज देवेंद्र इनका शृंगार है 

शिव जी की महिमा अपरम्पार है 

आया शिवरात्रि का त्यौंहार है।।


शिव जी की महिमा अपरम्पार है लिरिक्स (Shivji Ki Mahima Aparampar Hai Lyrics in English) - 


shiv jee kee mahima aparampaar hai

aaya shivaraatri ka parv hai

charanon mein natamastak sansaar hai

aaya shivaraatri ka tyaunhaar hai..||


kisake ur mein sarpo kee bhoomi hai

bhasm ramae baithe damaroo vaala hai

sir par jinakee ganga kee dhaar hai

duniya unakee karatee jay jayakaar hai

shiv jee kee mahima aparampaar hai

aaya shivaraatri ka tyaunhaar hai..||


bhaang dhatoora bel patr aaya hai

ganga jal mein aksharat phool saja hai

dharaatal par bas omkaar hai

shivajee ke mantro ka gunjar hai

shiv jee kee mahima aparampaar hai

aaya shivaraatri ka tyaunhaar hai..||


eechchha jan jan kee ye pooree karate hain

jholee haradam bhakton kee ye bharate hai

darshan karane se hee saaraansh hai

gajab anuj devendr inaka shrngaar hai

shiv jee kee mahima aparampaar hai

aaya shivaraatri ka tyaunhaar hai..||


*** Singer - Mukesh Kumar ***






Post a Comment

0Comments

If you liked this post please do not forget to leave a comment. Thanks

Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !