Type Here to Get Search Results !

दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा लिरिक्स (Dauda Jaye Samay Ka Ghoda Lyrics in Hindi) - Prakash Gandhi New Ram Bhajan - Bhaktilok

 


दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा लिरिक्स (Dauda Jaye Samay Ka Ghoda Lyrics in Hindi) - 


राम नाम से तूने बन्दे क्यूँ अपना मुख मोड़ा,

दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा......


इक दिन बीता खेलकूद में, इक दिन मौज में सोया,

देख बुढ़ापा आया तो, क्यों पकड़ के लाठी रोया,

अब भी राम सुमिर ले नहीं तो, पड़ेगा काल हथौड़ा,

दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा,

राम नाम से तूने बन्दे क्यूँ...........


अमृतमय है नाम हरी का तू अमृतमय बन जा,

मन में ज्योत जला ले तू बस हरी के रंग में रंग जा,

डोर जीवन की सौंप हरी को, नहीं पड़ेगा फोड़ा,

दौड़ा जाए रे, समय का घोड़ा,

राम नाम से तूने बन्दे क्यूँ...........


क्या लाया क्या ले जायेगा क्या पाया क्या खोया,

वैसा ही फल मिले यहाँ जैसा तूने है बोया,

काल शीश पर बैठा इसने, किसी को ना है छोड़ा,

दौड़ा जाए रे, समय का घोड़ा,

राम नाम से तूने बन्दे क्यूँ...........


मन के कहे जो चलते हैं वो दुःख ही दुःख हैं पाते,

माया के वश में जो है वो घोर नरक में जाते,

जो भी अजर-अमर बनते थे, उनका भी भ्रम तोड़ा

दौड़ा जाए रे, समय का घोड़ा,

राम नाम से तूने बन्दे क्यूँ...........


दौड़ा जाए रे समय का घोड़ा लिरिक्स (Dauda Jaye Samay Ka Ghoda Lyrics in English) -


raam naam se toone bande kyoon apana mukh moda,

dauda jaaye re samay ka ghoda......


ik din beeta jagat mein, ik din maja soy mein,

dekh buddhaapa aaya to, kyon pakad ke laathee roya,

ab bhee raam sumir le na to, jo kaal hamar,

dauda jaaye re samay ka ghoda,

raam naam se toone bande kyoon...........


amrtamay hai naam haree ka too amrtamay ban ja,

man mein jyot jala le too bas hare ke rang mein rang ja,

dor laiph kee aakhiree haree ko, nahin usane phoda,

dauda jaaye re, samay ka ghoda,

raam naam se toone bande kyoon...........


kya laaya, kya le jaega, kya paaya, kya khoya,

phal hee phal mile yahaan jaisa toone hai boya,

kaala sheesha par raakshas, kisee ko na hai nishkaasan,

dauda jaaye re, samay ka ghoda,

raam naam se toone bande kyoon...........


man ke kahe jo bache hain vo duhkh hee duhkh hain,

maaya ke vash mein jo hai vo ghor narak mein jaata hai,

jo bhee ajar-amar sanrachanaatmak the, unake bhee brahmaand sanrachana

dauda jaaye re, samay ka ghoda,

raam naam se toone bande kyoon...........


Ads Area