Type Here to Get Search Results !

थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे लिरिक्स (Thare Jhhang Nagana Baaje Re Lyrics in Hindi) - By Jaya Kishori Ji Bhajan - Bhaktilok

 


थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे लिरिक्स (Thare Jhhang Nagana Baaje Re Lyrics in Hindi) - 


थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे सालासर के मंदिर में हनुमान बिराजे रे 

हनुमान बिराजे रे बठेह बजरंग बिराजे रे 


थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे सालासर के मंदिर मेंहनुमान बिराजे रे -2

घार तेरा जिस थान में जी सालासर एक धाम 

सूरज शमि बने रे देवरो महिमा अपरम्पार 

थारे लाल ध्वजा फेहरावे रे सालासर के मंदिरमें हनुमान बिराजे रे


थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे

नारीला की गिनती कोणी बाबा स्वर्ण छत्र अपार 

दूर देश से दर्शन करने आवे नर और नार 

बाबो अटका काज सवारे रेसालासर के मंदिर में हनुमान बिराजे रे


थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे

चैत सुदीपु नमको मेलो भीड़ लगे अति भरी 

नर नारी थारा दर्शन करने आवे बारी बारी 

थारा जात जडूला लागे रे सालासर के मंदिर में हनुमान बिराजे रे


थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे

राम दूत अंजनि के सूत का धरो हमेशा ध्यान 

मै तो हूँ चरण को चाकर लाज रखो हनुमान 

बाबो बेडा पार लगावे रे सालासर के मंदिर में हमुमान बिराजे रे

थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे सालासर के मंदिर में हनुमान बिराजे रे

हनुमान बिराजे रे बठेह बजरंग बिराजे रे 

थारे झांझ नगाड़ाबाजे रे सालासर के मंदिर में हनुमान बिराजे रे - 4



Ads Area