Type Here to Get Search Results !

लाल लंगोटो हाथ में सोटो लिरिक्स (Lal Langote Hath Me Sotho Lyrics in Hindi) - Balaji Bhajan - Bhaktilok

 

लाल लंगोटो हाथ में सोटो लिरिक्स (Lal Langote Hath Me Sotho Lyrics in Hindi) - Balaji Bhajan:-

लाल लंगोटो हाथ में सोटो लिरिक्स (Lal Langote Hath Me Sotho Lyrics in Hindi) - Balaji Bhajan - Bhaktilok

लाल लंगोटो हाथ में सोटो लिरिक्स (Lal Langote Hath Me Sotho Lyrics in Hindi) - 


लाल लंगोटो हाथ में सोटो,

बजरंगी नखराले,

लाल है यो तो अंजनी माँ का,

ठुमक ठुमक कर चाले,

ये है राम का दीवाना,

सियाराम का दीवाना ||


कभी ना ये घबराता है,

दुष्टों को मार भगाता है,

सूर्य को भी इसने अपने,

मुख में छुपाया है,

बहुत बड़ा बलधारी है,

माँ का आज्ञाकारी है,

माँ ने कहा वो पल में,

करके दिखाया है |


बड़ा है निराला मतवाला,

सबको प्यारा है ये अंजनी लाला,

शीश मुकुट मुखड़े पे लाली,

कान में कुंडल डालें,

लाल है यो तो अंजनी माँ का,

ठुमक ठुमक कर चाले,

ये है राम का दिवाना,

सियाराम का दीवाना ||


इन्हें क्रोध जब आता है,

कोई नहीं टिक पाता है,

लखन लाल के प्राणों को,

इसी ने बचाया है,

अहिरावण जब आया था,

राम लखन को छुड़ाया था,

ऐसी मार मारी |


यमलोक में पहुंचाया था,

सागर लांग जाना बूटी लाना,

कांधे राम लखन बिठाना,

शंकर सुवन केसरी नंदन,

करते खेल निराले,

लाल है यो तो अंजनी माँ का,

ठुमक ठुमक कर चाले,

ये है राम का दिवाना,

सियाराम का दीवाना ||


प्रभु प्रेम की माया है,

तन सिंदूर लगाया है,

धर मन में धीरज जब से,

सभा बीच आए है,

हंसे सभा में अज्ञानी,

राम ने लीला पहचानी,

सिंदूरी चोले का फिर,

वरदान पाए हैं |


कैसी इनकी की माया,

लंकापति भी इसको समझ ना पाया,

कहे श्वेता रावण की फिर से,

अकल में पड़ गए ताले,

लाल है यो तो अंजनी माँ का,

ठुमक ठुमक कर चाले,

ये है राम का दिवाना,

सियाराम का दीवाना ||


लाल लंगोटो हाथ में सोटो,

बजरंगी नखराले,

लाल है यो तो अंजनी माँ का,

ठुमक ठुमक कर चाले,

ये है राम का दीवाना,

सियाराम का दीवाना ||


लाल लंगोटो हाथ में सोटो लिरिक्स (Lal Langote Hath Me Sotho Lyrics in English) - 


laal laingo haath mein soto,

bajarangee nakharaale,

laal hai yo to anjanee maan ka,

thumak thumak kar chaale,

ye hai raam ka deevaana,

siyaaraam ka deevaana ||


kabhee na ye chinta hai,

dushton ko maar bhagaata hai,

soory ko bhee dekhen aap,

mukh mein chhupaya hai,

bahut badee taakat hai,

maan ka aagyaakaaree hai,

maan ne kaha vo pal mein,

dikhaaya gaya hai |


bada hai niraala matavaala,

pyaaree hai ye anjanee laala,

chamakeela mukut mukhade pe laalee,

kaanon mein kundal daale,

laal hai yo to anjanee maan ka,

thumak thumak kar chaale,

ye hai raam ka divaana,

siyaaraam ka deevaana ||


krodh jab aata hai,

koee tik nahin paata hai,

laakh laal ke praanon ko,

isee ne kaha hai,

ahiraavan jab aaya tha,

raam lakshan ko sthaapit kiya gaya tha,

aisee maar maaree |


yamalok mein surakshit tha,

saagar laang jaana laabe laana,

kandhe raam lakshman raam,

shankar suvan kesaree nanda,

khelen niraale,

laal hai yo to anjanee maan ka,

thumak thumak kar chaale,

ye hai raam ka divaana,

siyaaraam ka deevaana ||


prabhu prem kee maaya hai,

tan sindoor ka upayog hai,

dhar man mein dheeraj jab se,

sabha beech aaya hai,

hanse sabha mein agyaanee,

raam ne leela pahachaanee,

sindooree chhole ka phir,

dulhan pae gae hain |


kaisee kee maaya,

lankaapati bhee samajh na paaya,

kahe shveta raavan kee phir se,

akl mein padhe gae kapade,

laal hai yo to anjanee maan ka,

thumak thumak kar chaale,

ye hai raam ka divaana,

siyaaraam ka deevaana ||


laal laingo haath mein soto,

bajarangee nakharaale,

laal hai yo to anjanee maan ka,

thumak thumak kar chaale,

ye hai raam ka deevaana,

siyaaraam ka deevaana ||



Ads Area