Type Here to Get Search Results !

जहाँ पाँव में पायल हाथ में कंगन लिरिक्स (Jaha Pav Me Payal Hath Me Kangan Lyrics in Hindi) - Desh Bhaktilok

 

जहाँ पाँव में पायल हाथ में कंगन लिरिक्स (Jaha Pav Me Payal Hath Me Kangan Lyrics in Hindi) - 


जहाँ पाँव में पायल हाथ में कंगन

हो माथे पे बिंदिया


इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया


जहां जंग पे जाए सिपाही

तोह खुद सजनि तिलक लगाए

मुँह से तोह कुछ न बोले

चुपके चुपके नीर बहाए

और अश्कों से अपने

लिखकर भेजे प्यार की चिठ्ठिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया


जहां दिन निकले सुनकर

श्लोक गुरबानी और अजान

अल्लाह ओ अल्लाह

जहां मजहब से ऊँचा है

इंसान सारे एक सामान

अरे आंच नहीं है साँच को

चाहे देख ले सारी दुनिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया


शबरी के खाके बेर

राम ने प्रेम की प्रथा चलाई

मीरा ने पीकर जहर का

प्याला प्रीत की रीत निभाई

जहां प्रेम की धुन पे

गोपियों संग नाचे कृष्ण कन्हैया

कहीं होता है रे भैया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया


सावन के झूले कहीं पे

बैसाखी के मेले

लगता है खुद कुदरत

इस धरती पे आकर खेलें

जहां मान से लोरी सुन

बूना बच्चों को न आये निन्दिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया


प्रेम कहानी मेरे देश की

एक से एक निराली

जहां सोहनी ने महीवाल के

खातिर अपनी जान गवाई

और रांझे ने

हीर की इक पल न सही जुदायी

जहां शिरीन और फरहाद के

इश्क़ में बहिन दूध की नदिया

इट हप्पेंस ओनली इन इंडिया.||


जहाँ पाँव में पायल हाथ में कंगन लिरिक्स (Jaha Pav Me Payal Hath Me Kangan Lyrics in English) -


jahaan paanv mein peela haath mein adhikaar

ho indaur pe bindiya


yah bhaarat mein onalain hota hai

yah bhaarat mein onalain hota hai


jahaan pe jang jaega sipaahee

toh khud sajanee tilakaplaat

munh se to kuchh na bole

achaanak neer bahae

aur ishqon se apane

bheje gae pyaar kee chiththiya

yah bhaarat mein onalain hota hai

yah bhaarat mein onalain hota hai


jahaan se din nikala

shlok gurabaanee aur ajaan

allaah o allaah

jahaan majahab se ooncha hai

insaan saara ek saamaan

are aanchal nahin hai saanche ko

nazar dekh le saaree duniya

yah bhaarat mein onalain hota hai

yah bhaarat mein onalain hota hai


shabaree ke khaake ber

raam ne prem kee jodee banaee

meera ne peekar jahar ka

pyaala preet kee reet adrshy

jahaan prem kee dhunen pe

gopiyon sang naache krshn priy

kahaan-kahaan hota hai re bhaiya

yah bhaarat mein onalain hota hai

yah bhaarat mein onalain hota hai


saavan ke jhoole kaheen pe

baisaakhee ke mele

lagata hai khud kudarat

is dharatee pe gyaan khelen

jahaan man se loree sun

boona bachchon ko na aaye nindiya

yah bhaarat mein onalain hota hai

yah bhaarat mein onalain hota hai


prem kahaanee mere desh kee

ek se ek niraalee

jahaan sonee ne mahivaal ke

khair apanee jaan gavaee

aur raanjhe ne

heer kee ik pal na sahee juda

jahaan shireen aur farahaad ke

ishq mein bahin doodh kee nadiya

yah bhaarat mein onalain hota hai ||


*** Singer - Singer: Anand Raj Anand ***



Ads Area