Type Here to Get Search Results !

जब साई का सर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है लिरिक्स (Jab Sai Ka Sar Pe Hath Hai To Darne Ki Kya Baat Hai lyrics in Hindi) - Sai Bhajan - Bhaktilok

 

जब साई का सर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है लिरिक्स (Jab Sai Ka Sar Pe Hath Hai To Darne Ki Kya Baat Hai lyrics in Hindi) - 


जब साई का सिर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है

साई किरपा से ही तो रोशन जीवन की हर रात है 

जब साई का सिर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है


सुख दुःख जीवन के दो पहलु ये तो आते जाते है

पर मेरे साई बाबा सबका सदा ही साथ निभाते है

साई के भगतो के लिए हर दिन खुशियों की प्रभात है

जब साई का सिर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है


साई का चिंतन करलो तुम चिंता पास न आएगी

किरपा करेंगे साई ऐसी हर मुश्किल टल जायेगी

साई का साथ सच्चा जिसने न धोखा न मात है

जब साई का सिर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है


है किरपालु साई मेरे इनकी किरपा को पा लो तुम

जो चाहो सो मिलेगा तुम्हे दामन जरा फैला लो तुम.

साई के दर से मन चाही हर मिलती यहाँ सौगात है

जब साई का सिर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है ||


जब साई का सर पे हाथ है तो डरने की क्या बात है लिरिक्स (Jab Sai Ka Sar Pe Hath Hai To Darne Ki Kya Baat Hai lyrics in English) - 


jab saee ka sir pe haath hai to darane kee kya baat hai

saee krpa se hee to jeevan kee har raat roshan hai

jab saee ka sir pe haath hai to darane kee kya baat hai


sukh duhkh jeevan ke do pahale ye to aate hain

par mere saee baaba sabhee sada ek saath hain

saee ke bhakton ke lie har din khushiyon kee prabhaat hai

jab saee ka sir pe haath hai to darane kee kya baat hai


saee ka sanket kaarlo tum chinta paas na aaoge

kirapa karenge saee aisee har mushkil talaiya

saee ka saath sach hai jo na dhokha deta hai

jab saee ka sir pe haath hai to darane kee kya baat hai


hai kirapaalu saee mere yukirapa ko pa lo tumhen

jo chaaho so hoga tumhaara daaman jara phailao tum.

saee ke dar se man chaaheee harayaalee kee yaad yahaan aatee hai

jab saee ka sir pe haath hai to darane kee kya baat hai ||


*** Singer: Shiv Bhardwaj ***



Ads Area