Type Here to Get Search Results !

घर में गणेश जी की स्थापना कैसे करें- यह तरीका जानिए(Ghar Me Ganesh Ji Ki Sthaapana Kaise Kare) - Bhaktilok

घर में गणेश जी की स्थापना कैसे करें- यह तरीका जानिए(Ghar Me Ganesh Ji Ki Sthaapana Kaise Kare):-

घर में गणेश जी की स्थापना कैसे करें- यह तरीका जानिए(Ghar Me Ganesh Ji Ki Sthaapana Kaise Kare) - Bhaktilok

घर में गणेश जी की स्थापना कैसे करें- यह तरीका जानिए(Ghar Me Ganesh Ji Ki Sthaapana Kaise Kare):-

🌼गणेश चतुर्थी पर तो हर भक्त गणेश जी की स्थापना करता है किन्तु आज हम आपको हमेशा के लिए गणेश जी की स्थापना अपने पूजा स्थल में कैसे करें इसके विषय में जानकारी देने वाले है । सभी भक्तजन अपने पूजा स्थल पर सभी देवों की स्थापना के साथ -साथ गणेश जी की भी फोटो लगाते होंगे । इसके अतिरिक्त आप इस प्रकार से गणेश जी स्थापना अवश्य कर ले ।

पूजास्थल पर गणेश जी की स्थापना कैसे करें (poojaasthal par ganesh jee kee sthaapana kaise karen):-


🌻आप एक सख्त मिटटी की डली ले ले, अब इस पर नाल (लाल धागे को लपेट ले ) लगभग सारी डली पर लाल धागे को लपेट ले और अब इसे कुमकुम से तिलक कर एक कटोरी में थोड़े अक्षत( चावल ) लेकर इस कटोरी में स्थापित कर दे । अब आप इस कटोरी को अपने पूजा स्थल पर स्थापित कर दे । यदि मिट्टी की डली उपलब्ध नही हो पाती है तो आप पूजा में प्रयोग आने वाली सुपारी को भी प्रयोग कर सकते है । इस प्रकार से गणेश जी स्थापना आपके पूजा के स्थान पर हो जाती है 

🌼इसके अतिरिक्त आप अपने पूजा स्थल पर एक छोटे से ताम्बे के पत्र में जल की स्थापना भी अवश्य करें । इस जल को आप प्रतिदिन तुलसी या पीपल के पेड़ या आस -पास किसी भी अन्य पेड़ में प्रवाहित कर फिर से स्वच्छ जल से भरकर रख दे ।

🌻प्रतिदिन जब भी आप पूजा के लिए बैठते है तो सबसे पहले आप गणेश जी की आव्हान करें । गणेश जी के आव्हान के लिए आप दिए गये मंत्रो में से किसी भी मंत्र का उच्चारण कर सकते है: –

🌼🌻भगवान श्री गणेश जी के मंत्र(bhagavaan shree ganesh jee ke mantra):-🌼🌻

 
ॐ गजाननं भूंतागणाधि सेवितम्,
कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम्।
उमासुतम् शोक विनाश कारकम्,
नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम्॥ 
 
।। ॐ गं गणपतये नमः ।।
।। ॐ श्री विघ्नेश्वराय  नमः ।।
।। ॐ श्री गणेशाय नमः ।।

वक्रतुण्ड महाकाय कोटिसूर्य समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरू मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा।।


🌼 श्री गणेश जी का नाम सभी देवों में सबसे पहले लिया जाता है । आप कोई भी शुभ कार्य करते है या फिर कोई भी अनुष्ठान करते है या घर पर किसी भी देव की पूजा रखते है । 
भगवान श्री गणेश जी की पूजा सबसे पहले की जाती है । हमारे हिन्दू धरम के अनुसार बिना गणेश जी की पूजा किये बिना किया गया कोई भी धार्मिक कार्य व्यर्थ है ।

🌻 श्री गणेश जी को विनायक, विघ्नेश्वर, गणपति, लंबोदर के नाम से भी जाना जाता है । शिवपुराण के अनुसार भगवान श्री गणेश का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को हुआ था इसीलिए इस दिन पूरे भारत वर्ष में गणेश उत्सव बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है । गणेश चतुर्थी के दिन सभी भक्तजन गणेश जी की प्रतिमा को घर पर स्थापित करते है और लगातार  10 दिनों तक गणेश जी की विशेष पूजा कर इस गणेश उत्सव को मनाया जाता है ।



Ads Area