Type Here to Get Search Results !

अर्थ सहित माँ पार्वती के 108 नाम ( Arth Sahit Maa Parwati Ke 108 Naam Lyrics in Hindi) - Mata Parvati ke 108 Naam - Bhaktilok

 

अर्थ सहित माँ पार्वती के 108 नाम ( Arth Sahit Maa Parwati Ke 108 Naam Lyrics in Hindi) - Mata Parvati ke 108 Naam:-

अर्थ सहित माँ पार्वती के 108 नाम ( Arth Sahit Maa Parwati Ke 108 Naam Lyrics in Hindi) - Mata Parvati ke 108 Naam - Bhaktilok


अर्थ सहित माँ पार्वती के 108 नाम ( Arth Sahit Maa Parwati Ke 108 Naam Lyrics in Hindi) - 


आद्य – प्रारंभिक या फिर वास्तविकता

आर्या – यह देवी का नाम है

अभव्या – यह नाम भय का प्रतीक है

अएंदरी – भगवान इंद्र की शक्ति

अग्निज्वाला – यह नाम आग का प्रतीक है

अहंकारा – यह नाम गौरव का प्रतीक है

अमेया – यह नाम उपाय से परे का प्रतीक है

अनंता – यह नाम अनंत का एक प्रतीक है

अनंता – इस नाम का अर्थ अनंत है

अनेकशस्त्रहस्ता – कई हथियारों को रखने वाली देवी

अनेकास्त्रधारिणी – वह देवी जो कई हथियारों को धारण करती हो

अनेकावारना – कई रंगों की देवी

अपर्णा – एक वह व्यक्ति जो उपवास के दौरान कुछ नहीं कहता है यह उसका प्रतीक है

अप्रौधा – वह जो उम्र नही लेता यह उसका प्रतीक है

बहुला – विभिन्न रूपों वाली

बहुलप्रेमा- हर किसी से प्यार करने वाली

बलप्रदा – यह नाम ताकत का दाता का प्रतीक है

भाविनी – खूबसूरत औरत का प्रतीक

भव्य – भविष्य का प्रतीक

भद्राकाली – काली देवी के रूपों में से एक देवी

भवानी – यह ब्रह्मांड की निवासी देवी

भवमोचनी – ब्रह्मांड की समीक्षक का प्रतीक

भवप्रीता – ब्रह्मांड में हर किसी से प्यार पाने वाली देवी

भव्य – यह नाम भव्यता का प्रतीक है

ब्राह्मी – वह देवी जो भगवान ब्रह्मा की शक्ति है

ब्रह्मवादिनी – हर जगह उपस्थित देवी

बुद्धि – ज्ञानी देवी

बुध्हिदा – ज्ञान की दात्री देवी

चामुंडा - वह जो चंड और मुंड राक्षस की हत्या करने वाली देवी है

चंद्रघंटा – यह नाम ताकतवर घंटी का प्रतीक है।

चंदामुन्दा विनाशिनी – जिसने चंड और मुंड की हत्या की वह देवी

चिन्ता – तनाव का प्रतीक

चिता – मृत्यु-बिस्तर का प्रतीक

चिति – सोच मन का प्रतीक

चित्रा – सुरम्य का प्रतीक

चित्तरूपा – सोच या विचारशील राज्य का धोतक

दक्शाकन्या – दक्ष की बेटी का नाम

दक्शायाज्नाविनाशिनी – दक्ष के बलिदान को टोकने वाला

देवमाता – वह जो देवी माँ है

दुर्गा – अपराजेय देवी

एककन्या – बालिका का प्रतीक

घोररूपा – भयंकर रूप का प्रतीक

ज्ञाना – ज्ञान का प्रतीक

जलोदरी – ब्रह्मांड में निवास करने वाली देवी

जया – विजयी का प्रतीक

कालरात्रि – वह देवी जो काली है और रात के समान दिखाई देती है।

किशोरी – किशोर का प्रतीक

कलामंजिराराजिनी – संगीत पायल का प्रतीक

कराली – हिंसक का प्रतीक

कात्यायनी – बाबा कत्यानन इस नाम को पूजते है

कौमारी- किशोर का प्रतीक

कोमारी- सुंदर किशोर का प्रतीक

क्रिया – लड़ाई का प्रतीक

क्र्रूना- क्रूर का प्रतीक

लक्ष्मी – वह जो धन की देवी है

महेश्वारी – वह जो भगवान शिव की शक्ति है

मातंगी – वह जो मतंगा की देवी

मधुकैताभाहंत्री – वह देवी जिसने राक्षस और मधु और कैटभ को मार दिया

महाबला – शक्ति का प्रतीक

महातपा – तपस्या का प्रतीक

महोदरी – एक विशाल पेट में ब्रह्मांड में रखने वाली

मनः – मन का प्रतीक

मतंगामुनिपुजिता – बाबा मतंगा द्वारा पूजी जाने वाली

मुक्ताकेशा – खुले बाल वाली

नारायणी – भगवान नारायण विनाशकारी विशेषताएँ

निशुम्भाशुम्भाहनानी – देवी जिसने शुम्भ, निशुम्भ को मारा है

महिषासुर मर्दिनी – जिस देवी ने महिषासुर को मार है

नित्या – अनन्त का प्रतीक

पाताला – रंग लाल का प्रतीक

पातालावती – लाल और सफ़द घारण करने वाली

परमेश्वरी – अंतिम देवी

पत्ताम्बरापरिधान्ना – चमड़े से बना हुआ एक प्रकार का कपडा

पिनाकधारिणी – शिव का त्रिशूल का नाम

प्रत्यक्ष – असली

प्रौढ़ा – पुराना

पुरुषाकृति – आदमी का रूप लेने वाली देवी

रत्नप्रिया – सजी देवी श्रृंगार करने वाली

रौद्रमुखी – विनाशक रुद्र की तरह भयंकर चेहरा वाली

साध्वी – आशावादी देवी

सदगति – मोक्ष कन्यादान

सर्वास्त्रधारिणी – मिसाइल हथियारों के स्वामिनी

सर्वदाना वाघातिनी - सभी राक्षसों को मारने के लिए योग्य

सर्वमंत्रमयी – सोच के उपकरण

सर्वशास्त्रमयी – वह जो चतुर है सभी सिद्धांतों में

सर्ववाहना – सभी वाहनों की सवारी

सर्वविद्या – जानकार सब जानने वाली

सती – वह देवी जो अपने पति के अपमान पर अपने आप को जला दे

जगतजननी – सारे संसार की माँ

सत्ता – सब से ऊपर

सत्य – सत्य

सत्यानादास वरुपिनी – शाश्वत आनंद

सावित्री – वह जो सूर्य भगवान की बेटी

शाम्भवी – शंभू की पत्नी

शिवदूती – भगवान शिव के राजदूत

शूलधारिणी – वह जो त्रिशूल धारण करता है

सुंदरी – भव्य

सुरसुन्दरी – बहुत सुंदर

तपस्विनी – तपस्या में लगी हुई

त्रिनेत्र – तीन आँखों का व्यक्ति

वाराही – जो व्यक्ति वाराह पर सवारी करता हुआ

वैष्णवी – अपराजेय

वनदुर्गा – वह जो जंगलों की देवी

विक्रम – हिंसक

विमलौत्त्त्कार्शिनी – खुशी प्रदान करना

विष्णुमाया – भगवान विष्णु का मंत्र

वृधामत्ता – माँ का पुराना स्वरूप

यति – दुनिया का त्याग करने वाला

युवती – औरत




Ads Area