Type Here to Get Search Results !

पतिबरता मैली भली गले कांच की पोत दोहे का अर्थ(Patibarata Maili Bhali Gale kanch ki Pot Dohe Ka Arth in Hindi)

 

पतिबरता मैली भली गले कांच की पोत दोहे का अर्थ(Patibarata Maili Bhali Gale kanch ki Pot Dohe Ka Arth in Hindi):-


पतिबरता मैली भली गले कांच की पोत ।
सब सखियाँ में यों दिपै ज्यों सूरज की जोत ।

 

पतिबरता मैली भली गले कांच की पोत दोहे का अर्थ(Patibarata Maili Bhali Gale kanch ki Pot Dohe Ka Arth in Hindi)


पतिबरता मैली भली गले कांच की पोत दोहे का अर्थ(Patibarata Maili Bhali Gale kanch ki Pot Dohe Ka Arth in Hindi):-

पतिव्रता स्त्री यदि तन से मैली भी हो भी अच्छी है। चाहे उसके गले में केवल कांच के मोती की माला ही क्यों न हो। फिर भी वह अपनी सब सखियों के बीच सूर्य के तेज के समान चमकती है !




Ads Area