Type Here to Get Search Results !

डम डम डमरू बाजे मेरे भोले के दरबार में लिरिक्स (Dam Dam Damaru Baje Mere Bhole Ke Darbar Me Lyrics in Hindi) - Shiv Bhajan - Bhaktilok

 

डम डम डमरू बाजे मेरे भोले के दरबार में लिरिक्स (Dam Dam Damaru Baje Mere Bhole Ke Darbar Me Lyrics in Hindi) -


डम डम डमरू बाजे

मेरे भोले के दरबार में

कण कण में बसते है

भोले बाबा संसार में


जिसे मोह ना मायाजाल का

ओ भक्त है महाकाल का..


वो शम्भू है वो शंकर है

उनसे ही तो धरती अम्बर है

वो भक्तो का रखवाला है

वो है तो ये जग में उजाला है


जिसे डर नहीं भुजाल का

ओ भक्त है महाकाल का

जिसे मोह ना मायाजाल का

ओ भक्त है महाकाल का..


हो मेरे दिल में हमेशा

तेरा वास रहे

मेरे सर पे हमेशा

तेरे हाथ रहे


हो मेरी मंजिल हो चाहे

कितनी मुश्किल

महाकाल हमेशा

मेरे साथ रहे


हो बात मेरी छोटी

पर मन है मेरा शिवाला

बाण मुझे क्या मारे

महाकाल है रखवाला


जो करता तिलक भस्म का

ओ भक्त है महाकाल का

जिसे मोह ना मायाजाल का

ओ भक्त है महाकाल का..


डम डम डमरू बाजे

मेरे भोले के दरबार में

कण कण में बसते है

भोले बाबा संसार में


जिसे मोह ना मायाजाल का

ओ भक्त है महाकाल का..||


डम डम डमरू बाजे मेरे भोले के दरबार में लिरिक्स (Dam Dam Damaru Baje Mere Bhole Ke Darbar Me Lyrics in English) - 


Dam dam damaroo baaje

mere bhole ke darabaar mein

kaam mein basate hai

bhole baaba sansaar mein


jise moh na maayaajaal ka

o bhakt hai mahaakaal ka..


vo shambhoo hai vo shankar hai

ve hee to dharatee ambar hai

vo bhakto ka rakhavaala hai

vo hai to ye jag mein ujaala hai


jise baandh nahin hai

o bhakt hai mahaakaal ka

jise moh na maayaajaal ka

o bhakt hai mahaakaal ka..


ho mere dil mein hamesha

tera vaas rahe

mere sar pe hamesha

tera haath raha


ho meree manjil ho chaahe

kitana mushkil

mahaakaal hamesha

mere saath rahe


ho baat meree chhotee

par man hai mera shivaala

mujhe kya maara

mahaakaal hai rakhavaala


jo karata hai tilak bhasm ka

o bhakt hai mahaakaal ka

jise moh na maayaajaal ka

o bhakt hai mahaakaal ka..


dam dam damaroo baaje

mere bhole ke darabaar mein

kaam mein basate hai

bhole baaba sansaar mein


jise moh na maayaajaal ka

o bhakt hai mahaakaal ka..||



Ads Area