Type Here to Get Search Results !

देश ना चलेगा संविधान के बिना (Desh Na Sanvidhaan Ke Bina Lyrics in Hindi) - भक्तिलोक

 देश ना चलेगा संविधान के बिना (Desh Na Sanvidhaan Ke Bina Lyrics in Hindi)


देश ना संविधान के बिना, आजादी की खोज अधूरी है

जीने का मतलब तक़दीर से उबरना हमारी है


कुछ तो अपना भी होना चाहिए, कुछ तो ख्वाब अधूरे रहने चाहिए

हर इंसान को सम्मान दिलाना, सब को एक दूसरे का होना


राह में रुकावटों का नाम हैं, मन में होनी चाहिए इमान हैं

समझदार हो या न हो, हर इंसान का साथ हो


धरती को बनाना है जनता, संविधान से ही मिलेगा ज्ञान हमें

देश की अदालत है संविधान, उसे हर किसी के मन में बसाना है


देश ना संविधान के बिना, आजादी की खोज अधूरी है

जीने का मतलब तक़दीर से उबरना हमारी है


देश ना चलेगा संविधान के बिना (Desh Na Sanvidhaan Ke Bina Lyrics in English)


desh na sanvidhaan ke bina, aazaadee kee khoj adhooree hai

jeen ka matalab taqadeer se shuroo karana hamaaree hai


kuchh to apana bhee hona chaahie, kuchh to khvaab rahana chaahie

har insaan ko sammaan dena, sabhee ko ek doosare ka hona


raah mein vidveshon ke naam hain, man mein hona chaahie eemaan

socho ho ya na ho, har insaan ka saath ho


dharatee ko banaana hai janata, sanvidhaan se hee hoga gyaan hamen

desh kee adaalat sanvidhaan hai, use har kisee ke man mein basaana hai


desh na sanvidhaan ke bina, aazaadee kee khoj adhooree hai

jeen ka matalab taqadeer se shuroo karana hamaaree hai





Ads Area