Type Here to Get Search Results !

कर्म तेरे अच्छे तो घर ही मथुरा काशी है (Karm Tere Ache To Ghar Hi Mathura Kashi Hai Lyrics in Hindi) - Nirgun Bhajan - Bhaktilok

 

कर्म तेरे अच्छे तो घर ही मथुरा काशी है (Karm Tere Ache To Ghar Hi Mathura Kashi Hai Lyrics in Hindi) - 


नियत तेरी अच्छी है तो घर ही मथुरा काशी है

कर्म तेरे अगर अच्छे है तो किस्मत तेरी दासी है

नियत तेरी अच्छी है तो घर ही मथुरा काशी है


कर न सको अगर पुण्य कोई तो कम से कम मत पाप करो

दिल को चोट पहुँच जाए मत ऐसा किया कलाप करो

इर्षा द्वेष नहीं करता जो वो गृहस्थ सन्यासी है

नियत तेरी अच्छी है तो घर ही मथुरा काशी है


झूठ कभी मत कहो किसी से हर दम सच की राह चलो

बे मानी सी दूर रहो तुम हो कर बेपरवाह चलो

ईश्वर अपनी सतनाओ से सत गुण का अभीलाषी है

नियत तेरी अच्छी है तो घर ही मथुरा काशी है


लूट खसोट करो मत हरगिज क्या तुम ले जाओ गे

गला काट कर इंसानो का आखिर तुम क्या पाओगे

रोटा है सतिंदर अंजू जो लो लूप जो बिलाषी है

नियत तेरी अच्छी है तो घर ही मथुरा काशी है


कर्म तेरे अच्छे तो घर ही मथुरा काशी है (Karm Tere Ache To Ghar Hi Mathura Kashi Hai Lyrics in English) - 


niyat achchhee hai teree to ghar hee mathura kaashee hai

karm tera agar achchha hai to bhaagy teree daasee hai

niyat achchhee hai teree to ghar hee mathura kaashee hai


kar na sako agar puny koee to kam se kam mat paap karo

dil ko chot lag jaaye mat aisa kalaap karo

irasha dvesh nahin karata jo vo grhasth sanyaasee hai

niyat achchhee hai teree to ghar hee mathura kaashee hai


jhooth kabhee mat kaho kisee se har dam sach kee raah chalo

be main see door raho tum ho kar beparavaah chalo

eeshvar apanee janmabhoomi se sat gun ka abheelaashee hai

niyat achchhee hai teree to ghar hee mathura kaashee hai


loot khasot karo mat haragij kya tum le jao ge

gala kaat kar insaano ka aakhiree kya tum paoge

rota hai satindu anju jo lo parivartan jo bilaashee hai

niyat achchhee hai teree to ghar hee mathura kaashee hai



Ads Area