Type Here to Get Search Results !

महामृत्युंजय मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Mahamrityunjaya Mantra Aur Usaka Arth Hindi Me) - bhaktilok


महामृत्युंजय मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Mahamrityunjaya Mantra Aur Usaka Arth Hindi Me):- 


महामृत्युंजय मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Mahamrityunjaya Mantra Aur Usaka Arth Hindi Me) - bhaktilok

 (toc) #title=(Table of Content)


महामृत्युंजय मंत्र (Mahamrityunjaya Mantra Sanskrit Me):-


ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्

उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

 

महामृत्युंजय मंत्र और उसका अर्थ हिंदी में (Mahamrityunjaya Mantra Aur Usaka Arth Hindi Me):-


अर्थ – ॐ, हम त्रिनेत्र वाले भगवान की पूजा करते हैं, जो सुगंधित है, जीवन में पोषण बढ़ाने वाला है। ककड़ी के समान अनेक सांसारिक बंधनों से मुझे मृत्यु से मुक्त किया जा सकता है (विनाशकारी वस्तुओं के प्रति आसक्ति) ताकि मैं अमरता (सर्वत्र व्याप्त अमरत्व) की धारणा से अलग न हो जाऊं।

महामृत्युंजय मंत्र को सबसे शक्तिशाली शिव मंत्र कहा जाता है। ॐ नमः शिवाय का जप करने के विपरीत, जहाँ आप किसी भी समय या किसी भी तरह से जप कर सकते हैं, इस मंत्र में कुछ प्रतिबंध हैं। ऐसे में आपको यह जानना जरूरी है कि इसका जाप कब और कैसे करना है। इस मंत्र का जाप करने से आपके जीवन में साहस और अन्य महत्वपूर्ण लाभ जुड़ते हैं। संस्कृत शब्द “महामृत्युंजय” का अर्थ है “मृत्यु पर विजय”। इसलिए, यदि आप अपने मृत्यु के भय और अन्य प्रकार के भौतिक कष्टों को दूर करना चाहते हैं, तो यह मंत्र आपके लिए है।





Ads Area