Type Here to Get Search Results !

भोग रखा रहा फूल मुरझा गए लिरिक्स (Bhog rakha raha phool murjha gaye Lyrics in Hindi) - Vishnu Bhajan - Bhaktilok

 

भोग रखा रहा फूल मुरझा गए लिरिक्स (Bhog rkha raha phool murjha gaye Lyrics in Hindi) - 


आप आए नहीं और सुबह हो गई

मेरी पूजा की थाली धरी रह गई

भोग रखा रहा फूल मुरझा गए

आरती भी धरी की धरी रह गई.....


मुझसे रूठे हो क्यों आप आते नहीं

कोई अपराध मेरा बताते नहीं

देखते-देखते सांसे रुकने लगी

क्या बुलाने में मेरे कमी रह गई

आप आए नहीं


हाल बेहाल है आप आओ हरि

मन की मोती की माला गले में पड़ी

वरना मन के यह मोती बिखर जाएंगे

कौन सी भावना की कमी रह गई

आप आए नहीं....


ध्यान भी हो गया ज्ञान भी हो गया

सारे जग से यह मन अब अलग हो गया

इतना होते हुए ना तुम्हें पा सकी

इच्छा दर्शन की मन में बनी रह गई

आप आए नहीं....


भोग रखा रहा फूल मुरझा गए लिरिक्स (Bhog rakha raha phool murjha gaye Lyrics in English) - 


tum aaye nahin aur subah ho gaye

meree pooja kee thaalee dharee rah gayee

bhog lagaate hue phool murajhaaye

aaratee bhee dharee kee dharee rah gaee...


mere roothe ho tum kyon nahin aate

koee aparaadh mera prayogashaala nahin

dekhate-dekhate sansaare ashubh lagee

kya jaangh mein meree kamee rah gaee

aap aaye nahin


haal behaal hai aap aao hari

man kee motee kee maala gale mein bichhee huee

baakee man ke yah motee tootege

kaun see bhaavana kee kamee rah gaee

aap aaye nahin....


dhyaan bhee ho gaya, gyaan bhee ho gaya

saaree jag se ye man ab alag ho gaya

itane bade hue na taarak pa shok

ichchha darshan kee man mein banee rah gayee

aap aaye nahin....


*// SINGER - SUMAN SHARMA //*




Ads Area