Type Here to Get Search Results !

रोती हुयी आँखों को मेरे श्याम हंसाते हैं लिरिक्स (Roti Huyi Aankho Ko Mere Shyam Hansaate Hain in Hindi) - Shyam Bhajan - Bhaktilok


रोती हुयी आँखों को मेरे श्याम हंसाते हैं लिरिक्स (Roti Huyi Aankho Ko Mere Shyam Hansaate Hain in Hindi) - 


रोती हुई आँखों को मेरे श्याम हसाते है

जब कोई नहीं आता मेरे श्याम ही आते है

रोती हुई आँखों को मेरे श्याम हसाते है।।


जिन नजरो को बाबा इक आंख न भाता था

करते थे सभी पर्दा जब मैं दिख जाता था

अब वो ही गले लग कर अपना पन दिखाते है

जब कोई नहीं आता मेरे श्याम ही आते है

रोती हुई आँखों को मेरे श्याम हसाते है।।


सब ने हस्ता देखा मेरे गाव नहीं देखे

उचाई दिखी सब को मेरे पाँव नहीं देखे

उस मंजिल को पाने में शाले पड़ जाते है

जब कोई नहीं आता मेरे श्याम ही आते है।।

रोती हुई आँखों को मेरे श्याम हसाते है


अपनों के सभी रिश्ते फीके पड़ जाते है

जब साथ से पैसो के पते झड़ जाते है

मतलब से सभी माधव यहाँ रिश्ता निभाते है

जब कोई नहीं आता मेरे श्याम ही आते है

रोती हुई आँखों को मेरे श्याम हसाते है।।


रोती हुयी आँखों को मेरे श्याम हंसाते हैं लिरिक्स (Roti Huyi Aankho Ko Mere Shyam Hansaate Hain in English) - 


Roti Hui Aankhon Ko Mere Shyam Hasaate Hai

Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Hi Aate Hai

Roti Hui Aankhon Ko Mere Shyam Hasaate Hai.


Jin Nazaro Ko Baba Ik Aankh Na Bhaata Tha

Karte The Sabhi Parda Jab Main Dikh Jaata Tha

Ab Wo Hi Gale Lag Kar Apna Pan Dikhate Hai

Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Hi Aate Hai

Roti Hui Aankhon Ko Mere Shyam Hasaate Hai.


Sab Ne Hasta Dekha Mere Gaav Nahi Dekhe

Uchaai Dikhi Sab Ko Mere Paanv Nahi Dekhe

Us Manzil Ko Paane Mein Shaale Pad Jaate Hai

Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Hi Aate Hai

Roti Hui Aankhon Ko Mere Shyam Hasaate Hai


Apnon Ke Sabhi Rishte Feeke Pad Jaate Hai

Jab Saath Se Paiso Ke Pate Jhad Jaate Hai

Matlab Se Sabhi Madhav Yahaan Rishta Nibhaate Hai

Jab Koi Nahi Aata Mere Shyam Hi Aate Hai

Roti Hui Aankhon Ko Mere Shyam Hasaate Hai.



Ads Area