Type Here to Get Search Results !

राम तेरी दुनिया में इंसान कर्म क्यों ऐसा करता है (Ram Teri Duniya Mein Lyrics in Hindi) - by Rehan Khan Ram Bhajan - BhaktiLok


राम तेरी दुनिया में इंसान कर्म क्यों ऐसा करता है (Ram Teri Duniya Mein Lyrics in Hindi) - 


राम तेरी दुनिया में इंसान कर्म क्यों ऐसा करता है
भला नहीं करता है किसी का, काम बिगाड़ा करता है 

अपना पेट भरा हो तो भी हक़ दूजे का मारता है 
केवल अपने हित में सोचे परहित से नहीं वास्ता है 
नाम धर्म का लेता है पर काम अधर्म का करता है 
भला नहीं करता है किसी का, काम बिगाड़ा करता है 

पूजा पाठ का करके दिखावा खुद को ऊँचा जाने है 
प्राणी मात्र से प्रेम है असली पूजा ये नहीं माने है 
खुद से ही पहचान नहीं ईश्वर की साधना करता है 
भला नहीं करता है किसी का, काम बिगाड़ा करता है 

मोह जाल में फंसा है ऐसे संभंधो को भूल गया
करुणा स्नेह परोपकार के कर्तव्यों को भूल गया 
राम तुम्ही अब तारो इसको ये मझधार उतरता है 
भला नहीं करता है किसी का, काम बिगाड़ा करता है 

धर्म ग्रन्थ प्रवचन कथाएं सच्ची राह दिखाती हैं 
मानव ने क्यों जन्म लिया ये बात हमें समझाती हैं 
ऋषि मुनि अवतारों की बातों को अनसुना करता है 
भला नहीं करता है किसी का, काम बिगाड़ा करता है 

राम तेरी दुनिया में इंसान कर्म क्यों ऐसा करता है (Ram Teri Duniya Mein Lyrics in English) - 


Ram Teri Duniya Mien Insaan Karm Kyun Aisa Karta Hai
Bhala Nahi Karta Hai Kisi Ka, Kaam Bigada Karta Hai

Apna Pet Bhara Ho To Bhi Haq Dooje Ka Maarta Hai
Kewal Apne Hit Mein Soche Parhit Se Nahi Vaasta Hai
Naam Dharm Ka Leta Hai Par Kaam Adharm Ka Karta Hai
Bhala Nahi Karta Hai Kisi Ka, Kaam Bigada Karta Hai

Puja Paath Ka Karke Dikhawa Khud Ko Uncha Jaane Hai
Prani Maatr Se Prem Hai Asli Puja Ye Nahi Maane Hai
Khud Se HI Pehchan Nahi Ishwar Ki Sadhna Karta Hai
Bhala Nahi Karta Hai Kisi Ka, Kaam Bigada Karta Hai

Moh Jaal Mein Phasa Hai Aise Sambandho Ko Bhool Gaya
Karuna Sneh Paropkaar Ke Kartavyon Ko Bhool Gaya
Ram Tumhi Ab Taaro Isko Ye Majhdhaar Utarta Hai
Bhala Nahi Karta Hai Kisi Ka, Kaam Bigada Karta Hai

Dharm Granth Pravachan Kathayein Sachchi Raah Dikhati Hain
Manav Ne Kyun Janm Liya Ye Baat Hamein Samjhaati Hain
Rishi Muni Avtaaron Ki Baaton Ko Ansuna Karta Hai
Bhala Nahi Karta Hai Kisi Ka, Kaam Bigada Karta Hai


Ads Area