Type Here to Get Search Results !

जिस पर हो हनुमान की कृपा भजन लिरिक्स (Jis par ho hanuman ki kirpa Lyrics in Hindi) - Hanuman Bhajan LAKHBIR SINGH LAKKHA - Bhaktilok

 

जिस पर हो हनुमान की कृपा भजन लिरिक्स (Jis par ho hanuman ki kirpa Lyrics in Hindi) - 


जिस पर हो हनुमान की कृपा

तकदीर का धनी वो नर है

रखवाला हो मारुती नंदन

फिर किस बात का डर है

भजन पवन सुत का कीजिए

नाम अमृत का प्याला पीजिए।।


शीश मुकुट कान में कुण्डल

लाल सिन्दूर से काया

लाल लंगोटे वाला हनुमत

माँ अंजनी का जाया

नाश करे दुष्टों का

भक्तों का भय लेता हर है

रखवाला हो मारुती नंदन

फिर किस बात का डर है

भजन पवन सुत का कीजिए

नाम अमृत का प्याला पीजिए।।


आई घड़ी जब जब दुविधा की

राम के काम बनाए

मात सिया वरदान दिया

संकट मोचन कहलाए

पूजा मंगल शनि करे

मंगल होता उस घर है

रखवाला हो मारुती नंदन

फिर किस बात का डर है

भजन पवन सुत का कीजिए

नाम अमृत का प्याला पीजिए।।


बल देते हो निर्बल को

निर्धन को माया देते

रोग कष्ट कटते रोगी को

निर्मल काया देते

‘लख्खा’ की भी सुध लेना

चरणों का ‘सरल’ चाकर है

रखवाला हो मारुती नंदन

फिर किस बात का डर है

भजन पवन सुत का कीजिए

नाम अमृत का प्याला पीजिए।।


जिस पर हो हनुमान की कृपा

तकदीर का धनी वो नर है

रखवाला हो मारुती नंदन

फिर किस बात का डर है

भजन पवन सुत का कीजिए

नाम अमृत का प्याला पीजिए।।


जिस पर हो हनुमान की कृपा भजन लिरिक्स (Jis par ho hanuman ki kirpa Lyrics in English) -


jis par ho hanumaan kee krpa

takadeer ka dhanee vo nar hai

rakhavaala horutee nandan

phir kis baat ka dar hai

bhajan pavan sut ka

amrt ka pyaala peejie..||


seezal kaan mein kundal

laal sindoor se kaaya

laal langote vaala hanumat

maan anjanee kaayaagat

naash kare dushton ka

bhakton ka bhay har leta hai

rakhavaala horutee nandan

phir kis baat ka dar hai

bhajan pavan sut ka

amrt ka pyaala peejie..||


aaee klok jab mushkil kee

raam ke kaam ko banae rakhana

maan siya varadaan diya

sankat mochan kahalae

pooja mangal shani kare

mangal us ghar mein hai

rakhavaala horutee nandan

phir kis baat ka dar hai

bhajan pavan sut ka

amrt ka pyaala peejie..||


bal den nirbal ko

nirdhan ko maaya den

rog kasht katate rogee ko

nirmal kaaya den

lakhakha kee bhee sudh lena

charanon ka saral chaakar hai

rakhavaala horutee nandan

phir kis baat ka dar hai

bhajan pavan sut ka

amrt ka pyaala peejie..||


jis par ho hanumaan kee krpa

takadeer ka dhanee vo nar hai

rakhavaala horutee nandan

phir kis baat ka dar hai

bhajan pavan sut ka

amrt ka pyaala peejie..||


** Singer - LAKHBIR SINGH LAKKHA **





Ads Area